पटना जंक्शन पर उस समय अफरातफरी का माहौल हो गया जब पटना - कोटा एक्सप्रेस में आग लग गई । बता दें कि एक्सप्रेस की खाली रैक में यह आग लगी, जिसमें जनरल बोगी की एक सीट जलकर खत्म हो गई । लूप लाइन पर खड़े इस ट्रेन में खिड़की से धुंआ निकलते देखकर आरपीएफ और रेलवे अधिकारियों की टीम दो सिलिंडर लेकर पहुंचे और आग को बुझाने की कोशिश करने लगे ।
शरारती तत्वों का है ये कारनामा

जहां 15 मिनट की लगातार कोशिश के बाद उन्होंने आग पर काबू पा लिया । जिसके बाद जल्दी में 193220 डिब्बा को अलग कर कंट्रोल रूम को इसकी जानकारी दी । आग कैसे लगी इसका पता अब तक नहीं चल पाया है । ट्रेन की सभी बोगियां बंद होने के बावजूद किसी शरारती तत्वों ने घुसकर सिगरेट पीया होगा । जिससे ये आग लगी ।

डीआरएम ने दिया जांच का निर्देश

मालूम हो कि यह आग रात के समय लगती, तो किसी बड़े हादसे को होने से कोई नहीं रोक सकता था । इससे पहले भी पटना जंक्शन के यार्ड में चार साल पहले आग लगी थी, जिसमें एक ट्रेन की दो बोगी जलकर खाक हो गई थी । इस मामले को लेकर डीआरएम ने जांच का निर्देश दिया है, जिससे कारणों का जल्द से जल्द पता चल सके ।